Breaking News

हिचकी से परेशान होने पर देशी उपाय

हम सभी को कभी ना कभी हिचकी आती है जिसे लोग अपनी मान्यताओं के हिसाब से देखते है कोई कहता है कि हिचकी आने का मतलब है कि कोई आपको याद कर रहा है जबकि कोई कहता है कि हिचकी आने का मतलब है कि आपने किसी चीज को चुराया है। लेकिन डाक्टरों का ऐसा मानना नहीं है।


डाक्टरों के अनुसार हिचकी के प्रमुख कारण :-
डायाफ्राम के फेफड़ों और मांस-पेशियों के बीच आ जाने से हमें हिचकी आती है। खाने और पीने से खासतौर पर ज्यादा कैलोरीयुक्त भोजन खाने , शराब पीने से हमारे डायाफ्राम सिकुड़ जाते हैं जिस वजह से हिचकी आती हैं। कमरे का तापमान बदल जाने से, गर्म खाने के बाद ठंड़ी कोल्ड ड्रींक पीने से और स्मोकिंग करने से भी हिचकी आती है। कुछ लोगों को जब वह परेशान होते हैं और खुश होते हैं तब भी हिचकी आती है।

कैसे हो हिचकी बंद :-
1. एक पुराना नुख्सा है कि जब भी आपको हिचकी आए तो जोर से कान का निचला हिस्सा दबाएं इससे आपकी हिचकी तुरंत बंद हो जाएगी।

2. जब भी आपको हिचकी आए अपनी जीभ के नीचे शहद रख दें आपकी हिचकी बंद हो जाएगी।

3. जब भी आपको हिचकी आए तो कोई भी ठंड़ी चीज जैसे बर्फ के टुकड़ों को अपने गले पर मलें या रख दें इससे भी आपकी हिचकी बंद हो जाएगी।

4. जब कभी भी आपको शराब पीने के बाद हिचकी आती है तो उसे भी आप आसानी से रोक सकते है इसके लिए नींबू का एक छोटा सा टुकड़ा अपने मुंह में रखें आपकी हिचकी तुरंत बंद हो जाएगी।

5. हिचकी को रोकने का एक और उपाय यह है कि एक पेपर बैग या कपडे  में सांस लें और छोड़ें इससे अपने खून में कार्बन डाई-ऑक्साइड की मात्रा बढ़ जाएगी जिससे आपकी हिचकी रुक जाएगी।